jamia

CAA Protest: जामिया में पुलिस के सामने पिस्तौल लहराकर युवक ने की फायरिंग

Protest against CAA-NRC Updates: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान शख्स ने फायरिंग की, जिसमें एक युवक घायल हो गया.

jamia
jamia

जामिया इलाके में पुलिस सुरक्षा के बावजूद चली गोली

घायल प्रदर्शनकारी को अस्पताल में कराया गया भर्ती

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक शख्स ने फायरिंग की. जामिया इलाके के पास एक सनकी युवक ने गोली चला दी, जिसमें एक छात्र घायल हो गया.

हमलावर अपना नाम पुलिस से गोपाल बता रहा है. साथ ही खुद को रामभक्त भी बता रहा है. पुलिस हमलावर के दावे की जांच कर रही है. घायल छात्र की पहचान शादाब के तौर पर हुई है. वह जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में मास कम्युनिकेशन का छात्र है.

घटना गुरुवार दोपहर की है. प्रदर्शनकारी छात्र गोली लगने से घायल हो गया है. हैरान करने वाली बात यह है कि इतनी कड़ी सुरक्षा के व्यवस्था के बाद भी गोली चली. पूरे मार्च वाले इलाके में  भारी मात्रा में पुलिस बलों की तैनाती है फिर भी आरोपी युवक ने खुलेआम बंदूक से गोली चलाई.

खड़ी देखती रही पुलिस

घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि आदमी ने खुलेआम हथियार लगाया लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया. प्रदर्शनकारियों की ओर शख्स आगे बढ़ रहा था. इस दौरान पुलिस महज चुप्पी साधे हुए देखते रही

साउथ ईस्ट दिल्ली के डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि युवक खुले में पिस्टल लहराता दिख रहा है. हमारे पास जो वीडियो है, उसकी जांच हम कर रहे हैं. युवक से पूछताछ की जा रही है. घायल युवक के नाम की भी जानकारी अभी सामने नहीं आई है. मामले की जांच जारी है. आरोपी से पूछताछ की जा रही है.

हमलावर ने लगाया वंदे मातरम का नारा

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक युवक गोली चलाने के दौरान भारत मां की जय, दिल्ली पुलिस जिंदाबाद और वंंदे मातरम का नारा लगा रहा था. पुलिस ने बदमाश युवक को हिरासत में ले लिया है. पुलिस युवक से पूछताछ कर रही है. गोली लगने से घायल युवक को होली फैमली अस्पताल में भार्ती कराया गया है.

पुलिस ने नहीं खोला बैरीकेड

जब यह हमला हुआ तब राजघाट की ओर प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण तरीके से आगे बढ़ रहे थे. जब युवक ने फायरिंग की तब भी पुलिस देखती रही. सब कुछ रिकॉर्ड होता लेकिन उसे रोका नहीं गया. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब युवक घायल हुआ तब  पुलिस ने बैरिकेड खोलन से मना कर दिया. घायल छात्र को कूदकर आगे बढ़ना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *